FeaturedGlobal

जंग इजरायल-हमास में छिड़ी, बीच में टांग अड़ाने वाले हिज्बुल्ला के अब तक 46 कमांडर ढेर

हमास के हमले के बाद इजरायल की तीन मोर्चों पर जंग जारी है. इजरायल जहां गाजा में हमास के ठिकानों पर बमबारी कर रहा है. तो वहीं, सीरिया और लेबनान में हिज्बुल्ला के ठिकानों पर एयरस्ट्राइक की है. उधर, हिज्बुल्ला भी लेबनान से इजरायली शहरों पर रॉकेट दाग रहा है. इजरायल और हिज्बुल्ला के बीच जंग भीषण होती जा रही है. इजरायली हमलों में हिज्बुल्ला के कई टॉप कमांडर्स समेत 46 लड़ाके अब तक मारे गए हैं. एयर स्ट्राइक में अपने सदस्यों के मारे जाने की बात हिज्बुल्ला ने खुद कबूली है. 

हिज्बुल्ला के मुताबिक, इजरायल से जारी जंग में उसके 46 लड़ाके मारे गए हैं. इनमें महदी मुहम्मद अटवी, हुसैन मोहम्मद अली हरीरी, अली इब्राहिम जवाद समेत कई कमांडर भी शामिल हैं. इन सबके बावजूद हिज्बुल्ला ने साफ कर दिया है कि वह गाजा की इस जंग में खड़ा रहेगा, भले ही दुनियाभर की सेनाएं उसके खिलाफ क्यों न हो जाएं.

हमास के कई कमांडर भी ढेर

गाजा पट्टी में इजरायल की भीषण बमबारी जारी है. इजरायल के इन हमलों में हजारों की संख्या में हमास के लड़ाके मारे गए हैं. इनमें कई टॉप कमांडर भी शामिल हैं. हमास ने पिछले 24 घंटे में हमास के 5 कमांडर्स शदी बड़ौद, हसन अल-अब्दुल्ला और दराज तुफ्फाह बटालियन के तीन सीनियर ऑपरेटिव को ढेर कर दिया. 

इसके अलावा इजरायली हमलों में अब तक अली कादी, अबू मामर, बिलाल अल कद्रा, मुएताज ईद, जोयेद अबू, मेराद अबु, तैसीर मुबाशेर, इब्राहिम अल-सहेर, हमास के तोपची डिप्टी कमांडर मुहम्मद कटमश मारे गए हैं. 

इजरायल से जंग में हमास का साथ दे रहा हिज्बुल्ला

1982 में ईरान के रिवॉल्यूशनरी गार्ड्स ने हिज्बुल्ला संगठन को बनाया था. इसका मकसद ईरान में हुई इस्लामी क्रांति को दूसरे देश में फैलाना और लेबनान में इजरायली सेना के खिलाफ मोर्चा खड़ा करना था. हमास और हिजबुल्ला, दोनों ही संगठनों का एक ही मकसद है और वो है- इजरायल का विनाश. हमास और हिज्बुल्ला, दोनों को ही अमेरिका ने आतंकी संगठन घोषित कर रखा है.

इजरायल और हिज्बुल्ला एक-दूसरे के कट्टर दुश्मन हैं. जुलाई 2006 में हिज्बुल्ला ने दो इजरायली सैनिकों को बंधक बना लिया था. जवाब में इजरायल ने जंग छेड़ दी थी. 34 दिन तक चली इजरायल और हिज्बुल्ला की इस जंग में 1100 से ज्यादा लेबनानी नागरिक मारे गए थे. इजरायल के भी 165 नागरिकों की इसमें मौत हुई थी. इस जंग में वैसे तो कोई नहीं जीता था, लेकिन सीधे तौर पर लेबनान को भारी नुकसान हुआ था.

#जग #इजरयलहमस #म #छड #बच #म #टग #अडन #वल #हजबलल #क #अब #तक #कमडर #ढर