FeaturedGlobal

‘भारत सरकार लाखों लोगों की जिंदगी को…’, 41 डिप्लोमैट्स को वापस बुलाए जाने पर फूटा ट्रूडो का गुस्सा

कनाडा में खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या में भारत का हाथ होने के जस्टिन ट्रूडो के आरोपों के बाद से दोनों देशों के बीच राजनयिक तनाव चरम पर है. ऐसे में भारत सरकार के अल्टीमेटम के बाद कनाडा ने भारत से अपने 41 डिप्लोमैट्स को वापस बुला लिया है. अब इस कदम पर ट्रूडो ने कहा है कि इससे दोनों देशों के लाखों लोगों की सामान्य जिंदगी मुश्किल हो जाएगी. 

ट्रूडो ने ओंटेरिया में टेलीविजन प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि भारत सरकार दोनों देशों के लाखों लोगों की जिंदगी के जीवन को मुश्किल बना रही है. वे डिप्लोमेसी के एक बहुत ही बुनियादी सिद्धांत का उल्लंघन कर रहे हैं. इससे मुझे कनाडा के लाखों नागरिकों को लेकर चिंता होती है, जो भारतीय उपमहाद्वीप मूल के हैं.

उन्होंने कहा कि कनाडा के कुछ डिप्लोमैट्स को वापस बुला लेने से यात्रा और कारोबार दोनों प्रभावित होंगे और इससे कनाडा में पढ़ाई कर रहे भारतीयों के समक्ष दिक्कतें पैदा होंगी.

बता दें कि लगभग 20 लाख कनाडाई नागरिकों की जड़े भारत से जुड़ी हैं. कनाडा में पढ़ाई करने वाले अंतरराष्ट्रीय छात्रों में सबसे अधिक संख्या भारतीयों की है. 

बता दें कि इस हफ्ते की शुरुआत में भारत ने कनाडा को 41 डिप्लोमैट्स को वापस बुलाने को कहा था.  विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने हाल ही में प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि भारत और कनाडा दोनों देशों के राजनयिकों की संख्या समान होनी चाहिए. अब यह कनाडा तय करे कि वो अपने किस राजनयिक को भारत में रखना चाहता है और किसे बुलाना चाहता है.

बागची ने कहा था कि जैसा कि हमने पहले कहा है, भारत में कनाडाई राजनयिकों की संख्या काफी ज्यादा है और वो हमारे घरेलू मामलों में हस्तक्षेप करते हैं. इसे ध्यान में रखते हुए, हम उम्मीद करते हैं कि कनाडा के राजनयिक भारत में अपनी संख्या कम करेंगे और वापस चले जाएंगे.

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने भारत पर खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर हत्याकांड में शामिल होने का आरोप लगाया है.

#भरत #सरकर #लख #लग #क #जदग #क #डपलमटस #क #वपस #बलए #जन #पर #फट #टरड #क #गसस