FeaturedGlobal

महिला सैनिकों की टुकड़ी से मिलने पहुंचे नेतन्याहू, पढ़ें- काराकल बटालियन कितनी घातक

इजरायल और हमास जंग के बीच प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू मंगलवार को इजरायली सेना की महिला सैनिकों से मिलने मोर्चे पर पहुंचे. ये महिला सैनिक इजरायल की काराकल रेजिमेंट से जुड़ी हुई हैं. देश की रक्षा में इस बटालियन का बहुत बड़ा रोल है.

नेतन्याहू ने इन महिला सैनिकों से मिलने के बाद कहा कि दर्जनभर से ज्यादा आतंकियों का खात्मा करने वालीं काराकल रेजिमेंट की महिला सैनिकों के साथ हूं. उनके अदम्य साहस को सलाम है.

कितनी खतरनाक है काराकल बटालियन?

इजरायली सेना की काराकल बटालियन का 2000 में गठन किया गया था. यह इजरायल की पहली बटालियन है, जिसमें पुरुषों के साथ-साथ महिला सैनिकों की भी भर्तियां की गई थीं. इस बटालियन के गठन से पहले इजरायल में महिलाओं को सीधे तौर पर युद्ध के मोर्चे पर नहीं भेजा जाता था. इसे इजरायल की सबसे खतरनाक बटालियन में से एक माना जाता है.

काराकल बटालियन में शामिल लगभग 2,00,000 सैनिकों में से लगभग एक चौथी महिलाएं हैं. साल 2009 के बाद से इस बटालियन में लगभग 70 फीसदी महिलाएं हैं. यह बटालियन इजरायल से सटी मिस्र और जॉर्डन की सीमा पर मुख्य तौर पर गश्ती का काम करती है.

हमास के 100 लड़ाकों को ढेर कर चुकी हैं महिला सैनिक

इस बटालियन कै सैनिक इजरायल में बनी टैवर असॉल्ट राइफलें इस्तेमाल करते रहे हैं लेकिन बाद के सालों में एम4 कैरबाइन्स और एम16 राइफलें भी इस्तेमाल करते हैं. काराकल बटालियन की महिला सैनिक अब तक हमास के लगभग 100 लड़ाकों को ढेर कर चुकी हैं. इन महिला सैनिकों को गाजा की जंग के हीरो के तौर पर देखा जा रहा है. 

इजरायली सेना आईडीएफ का कहना है कि उनकी 7वीं बख्तबंद ब्रिगेड ने उत्तरी गाजा में हमास आउटपोस्ट और ट्रेनिंग कैंप पर हमला किया. इस दौरान हमास के दर्जनों हथियारों को जब्त किया गया और 30 लड़ाकों को ढेर कर दिया गया. 

आईडीएफ का कहना है कि उन्होंने असॉल्ट राइफल्स, मिसाइल, मोर्टार, ड्रोन, संचार उपकरण और अन्य तकनीकी इक्विप्मेंट जब्त किए. 

 

इजरायल और हमास की जंग के बीच बेंजामिन नेतन्याहू ने गाजा को लेकर बड़ा बयान दिया. बेंजामिन ने कहा कि हम गाजा पर दोबारा कब्जा जमाना नहीं चाहते. बल्कि हम मिडिल ईस्ट को एक बेहतर भविष्य देना चाहते हैं. 

इजरायली पीएम ने फॉक्स न्यूज को दिए इंटरव्यू में कहा कि हम गाजा पर कब्जा नहीं चाहते. हम गाजा पर हुकूमत भी नहीं चाहते. बल्कि हम गाजा को एक बेहतर भविष्य देना चाहते हैं. गाजा में हमारी सेना बेहतरीन काम कर रही है.

हालांकि, नेतन्याहू ने कहा कि गाजा के भीतर एक विश्वसनीय फोर्स होने की जरूरत है क्योंकि हत्यारों के कत्लेआम की जरूरत है.  

7 अक्टूबर से जारी है जंग

सात अक्टूबर को हमास ने गाजा पट्टी से इजरायल पर 5 हजार से ज्यादा रॉकेट दागकर हमला कर दिया था. इसके तुरंत बाद इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने हमास के खिलाफ जंग का ऐलान कर दिया था. इन दो हफ्तों की जंग में गाजा पट्टी पूरी तरह से तबाह हो गई है.

इजरायल और हमास जंग में मरने वालों फिलिस्तीनी नागरिकों की संख्या 10 हजार से ज्यादा हो गई है. अब तक गाजा के 23 लाख में से आधे नागरिकों ने अपना घर छोड़ दिया है. हमास के लड़ाकों ने 200 से ज्यादा नागरिकों को बंधक बनाकर रखा है. हमास का दावा है कि इजरायली बमबारी में 50 से ज्यादा बंधकों की मौत हो गई है. 



#महल #सनक #क #टकड #स #मलन #पहच #नतनयह #पढ #करकल #बटलयन #कतन #घतक