FeaturedGlobal

‘विदेश यात्रा करने से बचें’, रूस में हिंसक प्रदर्शन के बाद इजरायल की अपने नागरिकों को सलाह

पूरी दुनिया की नजरें गाजा पर जारी इजरायली सेना के ग्राउंड ऑपरेशन पर टिकी हैं. अगले कुछ घंटों में क्या होगा, ये इजरायली सेना के ग्राउंड अटैक के नतीजे तय करेंगे. इजरायल का दावा है युद्ध विराम तभी होगा जब हमास का अंत होगा. वहीं इजरायल के गाजा पर एक्शन को लेकर अन्य देशों में जमकर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. तुर्की से लेकर तमाम इस्लामिक देशों के अलावा अब रूस में भी प्रदर्शनकारी उग्र होते दिख रहे हैं. इस क्रम में इजरायल सरकार ने अपने नागरिकों के लिए एडवाइजरी जारी की है.

इजरायल की तरफ से कहा गया है कि रूस में एयरपोर्ट पर हुई घटना के मद्देनजर इजरायली/यहूदियों के ठिकानों पर हमला हो सकता है. इसके चलते राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद और विदेश मंत्रालय अदिगिया गणराज्य, चेचन्या, दागेस्तान (इसकी राजधानी मखचकाला सहित), इंगुशेतिया, काबर्डिनो-बाल्केरियन गणराज्य, कलमीकिया, कराची-चर्केसिया, उत्तरी ओसेशिया की यात्रा करने वाले इजरायलियों के लिए चेतावनी है.

एडवाइजरी में कहा गया है कि राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद और विदेश मंत्रालय इस समय इन क्षेत्रों से बचने और यहां रहने वाले किसी भी यहूदी को तुरंत निकलने की सलाह देते हैं. इस समय विदेश यात्रा करने पर पुनर्विचार करें और जरूरी न हो तो अन्य शहरों और देशों की यात्रा करने से बचें. सभी इजरायली इस समय सतर्क रहें और स्थानीय सुरक्षा बलों की बात सुनें.

रूस में रनवे पर पहुंच गए थे प्रदर्शनकारी

बता दें कि रविवार को दक्षिण रूसी क्षेत्र दागेस्तान के मखाचकाला शहर में एयरपोर्ट पर फिलिस्तीन समर्थक अचानक रनवे पर पहुंच गए थे. इस दौरान प्रदर्शन कर रहे लोगों ने रनवे को बंद कर दिया, जिसके बाद रूसी विमानन प्राधिकरण रोसावियात्सिया ने दागेस्तान क्षेत्र में माखचकाला जाने वाले सभी फ्लाइट्स को दूसरे एयरपोर्ट्स की तरफ डायवर्ट करना पड़ा था.

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गाजा में इजरायली कार्रवाई की निंदा करने के लिए ये लोग इकट्ठा हुए थे. प्रदर्शनकारियों का एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें प्रदर्शनकारियों के बड़े समूहों को एयर-टर्मिनल में प्रवेश करते और फिर अंदर के तमाम कमरों को तोड़ते हुए देखा जा सकता है. प्रदर्शनकारियों ने एयरपोर्ट की बिल्डिंग पर धावा बोल दिया, फिलिस्तीन का झंडा लहराया और “अल्लाहु अकबर” के नारे लगाए. यहां उन्होंने यहूदी विरोधी नारे लगाए और तेल अवीव, इजरायल से आने वाली फ्लाइट्स से आने वाले यात्रियों की तलाश की.

प्रदर्शनकारियों का वीडिया आया सामने

वीडियो में नजर आ रहा है कि प्रदर्शनकारी जबरन दरवाजे खोल रहे हैं, कैमरे के पीछे से आदमी अभद्र भाषा में चिल्ला रहा है और दरवाजे खोलने के लिए कह रहा है. इस दौरान एयरपोर्ट के कर्मचारियों पर वह भड़क रहे हैं. वहीं एक महिला रूसी भाषा में कह रही है “यहां कोई इजरायली नहीं है”. कई मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि प्रदर्शनकारियों का मकसद इजरायली नागरिकों पर हमला करना था.

दागिस्तान के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि 20 से अधिक लोग घायल हुए हैं, जिनमें से दो की हालत गंभीर है. इसमें कहा गया कि घायलों में पुलिस अधिकारी और नागरिक शामिल हैं. प्रदर्शनकारियों के खिलाफ एक्शन जारी है.

पीएम नेतन्याहू का सीजफायर से साफ इनकार

इजरायली पीएम नेतन्याहू ने गाजा में हमास के खिलाफ सीजफायर से इनकार कर दिया है. पीएम का कहना है कि ऐसा करना हमास के सामने घुटने टेकने जैसा होगा. अब युद्ध विराम जीत मिलने पर ही होगा. वहीं नेतन्याहू ने दुनिया भर के देशों से इस समय इजरायल के साथ खड़े रहने और आतंकी संगठनों के खिलाफ एकजुट होने का आह्वान किया है.

#वदश #यतर #करन #स #बच #रस #म #हसक #परदरशन #क #बद #इजरयल #क #अपन #नगरक #क #सलह