Moradabad: सपा ने काटा एसटी हसन का टिकट तो भड़के समर्थक, रुचि वीरा-आजम खान के खिलाफ नारेबाजी, पुतला भी फूंका

0
8

सपा सांसद डॉ. एसटी हसन का मुरादाबाद लोकसभा सीट से टिकट कटने की बात पर उनके समर्थक भड़क उठे. एसटी हसन के समर्थकों ने जोरदार नारेबाजी करते हुए रुचि वीरा के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया. समर्थकों ने रुचि वीरा का पुतला भी फूंका. इतना ही नहीं प्रदर्शनकारी आजम खान पर भी जमकर बरसे. 

दरअसल, खबर है कि समाजवादी पार्टी रुचि वीरा को मुरादाबाद से उम्मीदवार बनाने का फैसला कर चुकी है और एसटी हसन का टिकट कटने के पीछे आजम खान की नाराजगी है. ऐसे में हसन के समर्थकों का रुचि वीरा और आजम दोनों पर गुस्सा फूट पड़ा. समर्थकों का कहना है कि आजम को रामपुर की राजनीति पर ध्यान देना चाहिए ना कि मुरादाबाद की. मुरादाबाद में एसटी हसन से अच्छा कोई प्रत्याशी नहीं हो सकता. 

ये भी पढ़ें- सपा ने मुरादाबाद से एसटी हसन का टिकट काटा, अब रामपुर पर नजरें, नाराज आजम को मना पाएंगे अखिलेश?

बता दें कि सपा सांसद एसटी हसन का टिकट कटने की बात पर गुस्साए समर्थकों ने जोरदार नारेबाजी करते हुए पूर्व विधायक रुचि वीरा का पुतला फूंका. मुगलपुरा स्थित गवर्मेंट इंटर कॉलेज के सामने जमकर विरोध प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों ने रुचि वीरा हाय-हाय के नारे लगाए. आजम खान के खिलाफ भी नारेबाजी की. प्रदर्शनकारियों ने कहा कि उन्हें बाहरी प्रत्याशी मंजूर नहीं है.  

आजम से अखिलेश की मुलाकात और कट गया हसन का टिकट 

गौरतलब है कि हाल ही में सीतापुर जेल में जाकर अखिलेश यादव ने आजम खान से मुलाकात की थी. इसके बाद सपा प्रमुख ने कहा था कि उनके और आजम के बीच बातचीत पूरी हो गई है. लेकिन इसके बाद आजम खान की चिट्ठी ने सियासी गलियारों में चर्चाओं का बाजार गरमा दिया है. इस चिट्ठी के बाद आजम की नाराजगी खुलकर सामने आई है. इसके बाद चर्चा है कि क्या अखिलेश यादव आजम खान को मनाने में कामयाब हो पाएंगे? अब केवल रामपुर ही नहीं बल्कि मुरादाबाद तक तनाव है. रामपुर में आजम समर्थक जिला इकाई चुनाव बहिष्कार का ऐलान कर रही है. वहीं दूसरी ओर मंगलवार सुबह ही मुरादाबाद में नामांकन करने वाले सांसद एसटी हसन का टिकट कटने की चर्चाएं शाम तक होने लगीं.

सूत्रों के मुताबिक, सपा एसटी हसन की जगह अब मुरादाबाद से रुचि वीरा को उतारने जा रही है. चर्चा ये भी है कि क्या मुरादाबाद से एसटी हसन को हटाकर अखिलेश यादव अब रामपुर से लड़ाएंगे. अगर ऐसा होता है तो क्या रामपुर में आजम समर्थक मान जाएंगे? रामपुर हो या मुरादाबाद, दोनों पहले चरण की सीट हैं, जहां नामांकन करने की आखिरी तारीख 27 मार्च है. यानी कुछ ही घंटे बचे हैं और समाजवादी पार्टी को फैसला करना है.

#Moradabad #सप #न #कट #एसट #हसन #क #टकट #त #भड़क #समरथक #रच #वरआजम #खन #क #खलफ #नरबज #पतल #भ #फक