FeaturedGlobal

Rajasthan: फूड पैकेट पर सीएम अशोक गहलोत का फोटो, आचार संहिता लगते ही लाभार्थियों की बढ़ गई परेशानी

राजस्थान में विधानसभा चुनाव 25 नवम्बर को होने जा रहे हैं. चुनावों को लेकर लगी आचार संहिता के कारण प्रदेश में कई सरकारी योजनाओं पर रोक लग गई है. प्रदेश सरकार की गरीबों के लिए चलाई गई अन्नपूर्णा फूड पैकेट योजना के तहत बांटे जा रहे पैकेट के वितरण को रोक दिया गया है. धौलपुर जिले में एक लाख 88 हजार 709 खाद्य सुरक्षा लाभार्थियों को फ़ूड पैकेट का वितरण होना था, लेकिन विधानसभा चुनाव को लेकर आचार संहिता लगने के बाद से इस योजना पर रोक लगा दी गई है.

इसका मुख्य कारण यह है कि पैकेट पर सीएम अशोक गहलोत की फोटो लगी हुई है. पैकेट के कवर पर लगे सीएम गहलोत के फोटो से कांग्रेस सरकार की योजना का प्रचार-प्रसार हो रहा था, जिसके चलते वितरण आचार संहिता का उल्लंघन माना जा रहा था. आचार संहिता की घोषणा होने के बाद से धौलपुर रसद विभाग की और से इसके वितरण कार्य पर रोक लगा दी गई. ज्यादातर राशन डीलरों ने आचार संहिता से पूर्व फूड पैकेट का वितरण कर दिया था.

नए पैकेट दुकानों पर नहीं पहुंचे

मगर, इसके बाद भी कुछ राशन डीलरों के पास पैकेट बच गए थे, जिन्हें रसद विभाग ने दुकानों से हटवा दिया हैं. अब नए पैकेट दुकानों पर पहुंचे नहीं हैं. इससे लाभार्थियों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. लाभार्थी दुकानों के चक्कर लगा रहे हैं. मगर,दुकानों पर नई पैकिंग के पैकेट पहुंचे नहीं हैं. लाभार्थी गरीब परिवारों से हैं, जिनको परिवार चलाने में अब दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा हैं.

धौलपुर जिले में 462 राशन की दुकान

धौलपुर जिले में 462 राशन की दुकान हैं. जो हर महीने लोगों को राशन और पैकेट वितरण करते हैं. सरकार द्वारा अन्नपूर्णा फूड पैकेट योजना शुरू होने के बाद अगस्त माह में एक लाख 77 हजार 491 और सितम्बर माह में एक लाख 81 हजार एक लाभार्थियों में से 95 प्रतिशत पैकेटों का वितरण किया गया था. जबकि, अक्टूबर माह में आचार संहिता से पहले 17 हजार 502 पैकिटों का वितरण किया और इसके बाद दुकानों पर रखे पैकेटों को रसद विभाग ने वहां से हटा दिया.

रसद विभाग ने अगस्त से लेकर आचार संहिता से पहले तक तीन लाख 57 हजार 510 अन्नापूर्णा फूड पैकटों का वितरण किया है. अक्टूबर माह और दीपावली त्यौहार को लेकर एक लाभार्थी को डबल फूड पैकेट दिए जाने हैं. जिनकी संख्या तीन लाख 36 हजार 722 हैं.

यह है लाभार्थियों का कहना

लाभार्थी सोनू ने बताया कि मैं कपड़े प्रेस करने का काम करता हूं. अगस्त और सितम्बर माह में ही अन्नपूर्णा फूड पैकेट मिले थे. मगर, अब राशन किट नहीं मिलने से बहुत परेशानी हो रही है. इससे परिवार को चलाने में सहारा मिल जाता था, लेकिन इस महीने नहीं यह नहीं मिला है. राशन की दुकान के कई चक्कर लगा दिए है. 

एक और लाभार्थी रेखा का कहना है कि राशन नहीं मिल रहा है. मेरे पति राशन की दुकान के कई चक्कर लगा चुके हैं. परिवार चलाने में काफी परेशानी आ रही है.

जल्द मिलेंगे लोगों को फूड पैकेट

जिला रसद अधिकारी गजेंद्र शर्मा के मुताबिक, अब तक सरकार की ओर से मिलने वाले अन्नपूर्णा फूड पैकेट पर सीएम का फोटो होने के कारण उन पर रोक लगाई है. आचार्य संहिता लगने के बाद अब फर्म द्वारा नए पैकेट भेजे जा रहे हैं, जिसमें किसी का फोटो नहीं होगा और एक-दो दिन में फूड पैकेट दुकानों पर पहुंच जाएंगे. अक्टूबर माह और दीपावली त्यौहार को लेकर फूड पैकेटों की आर्पूति राशन डीलरों को एक-दो दिन में कर दी जाएगी. तीन लाख 36 हजार 722 पैकेट वितरण किए जाएंगे. 

अन्नपूर्णा फूड पैकेट में एक किलो चना दाल, एक किलो चीनी, आयोडाइज्ड नमक, एक लीटर सोयाबीन रिफाइंड खाद्य तेल, मिर्च, धनिया पाउडर और हल्दी पाउडर होता है. जिले में खाद्य सुरक्षा योजना के एक लाख 88 हजार 709 लाभार्थी हैं, जिनमें आठ लाख 52 हजार 274 लोग शामिल हैं.

#Rajasthan #फड #पकट #पर #सएम #अशक #गहलत #क #फट #आचर #सहत #लगत #ह #लभरथय #क #बढ #गई #परशन